Awaz Jana Desh | awazjanadesh.in
अंतरार्ष्ट्रीय

एन.डी.ए. में गुरुकुल के छात्रों की ऊंची उड़ान, 60 छात्र हुए उत्तीर्ण…

राज्यपाल आचार्य देवव्रत ने गुरुकुल परिवार व छात्रों को भेजी शुभकामनाएं।

दैनिक आवाज जनादेश /वैद्य पण्डित प्रमोद कौशिक।
कुरुक्षेत्र, 20 सितम्बर : गुरुकुल कुरुक्षेत्र के छात्र श्रेष्ठ परीक्षा परिणामों की परम्परा को न केवल आगे बढ़ा रहे हैं बल्कि प्रतियोगी परीक्षाओं में अपनी प्रतिभा के दम पर नई ऊंचाइयां को छू रहे हैं। इसकी एक बानगी सोमवार को आए एनडीए के लिखित परीक्षा परिणाम में देखने को मिली जिसमें गुरुकुल के 60 छात्रों ने अपनी कुशाग्र मेधा के झंडे गाड़ते हुए, यह परीक्षा उत्तीर्ण की जो अपने आप में एक रिकार्ड है। एनडीए विंग के छात्रों की इस बड़ी कामयाबी पर गुरुकुल परिसर में उत्साह का माहौल है। गुरुकुल के प्रधान राजकुमार गर्ग ने निदेशक कर्नल अरुण दत्ता, प्राचार्य सुबे प्रताप, व्यवस्थापक रामनिवास सहित तमाम अध्यापक व संरक्षकवृन्द को इसके लिए बधाई दी और छात्रों को लड्डू खिलाकर अपनी खुशी व्यक्त की। वहीं गुजरात के राज्यपाल आचार्य श्री देवव्रत जी ने भी गुरुकुल कुरुक्षेत्र के छात्रों की कड़ी मेहनत और परिश्रम की तारीफ की और इस बड़ी उपलब्धि पर समस्त गुरुकुल परिवार को शुभकामनाएं प्रेषित कीं और छात्रों को एस.एस.बी. इन्टरव्यू में भी सफल होने का आशीर्वाद दिया। इस अवसर पर एनडीए विंग के सूबेदार एस. के. मोहन्ती, सूबेदार बलवान सिंह, आईआईटी विंग के प्रकाश जोशी भी मौजूद रहे।

निदेशक कर्नल अरुण दत्ता ने बताया कि यूपीएससी द्वारा 4 सितम्बर 2022 को एनडीए हेतु लिखित परीक्षा का आयोजन किया गया जिसमें देश के विभिन्न शिक्षण संस्थानों के लाखों छात्रों ने भाग लिया। सोमवार को यूपीएससी द्वारा लिखित परीक्षा का परिणाम घोषित किया गया जिसमें गुरुकुल के 60 छात्रों ने सफलता हासिल की। इनमें 36 छात्र इस सत्र से हैं जबकि 24 छात्र विगत सत्र वाले हैं। अब ये सभी छात्र एसएसबी पर फोकस करेंगे जिसमंे सफल होने के बाद ये सेना में लेफ्टिनेंट के पद पर अपनी सेवाएं प्रदान करेंगे। हाल ही में गुरुकुल में 10 दिवसीय एसएसबी ओरिएंटेशन प्रोग्राम सम्पन्न हुआ जिसमें छात्रों को विशेषज्ञों द्वारा एसएसबी में सफल होने के लिए पूरी गाइडेंस दी गई। कर्नल दत्ता ने कहा कि गुरुकुल कुरुक्षेत्र शिक्षा के क्षेत्र में एक बड़ा नाम बनकर उभरा है। गुरुकुल में अध्ययनरत छात्रों के भविष्य को लेकर उनके अभिभावक बिल्कुल निश्चिन्त है, क्योंकि वे इस बात से भली-भांति परिचित हैं कि गुरुकुल में पाठ्यक्रम के अलावा विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कुशल और अनुभवी अध्यापकों द्वारा करवाई जाती है। सही समय पर उचित मार्गदर्शन से विद्यार्थी अपने लक्ष्य को प्राप्त करके अपने उज्जवल भविष्य की ओर अग्रसर होता है। गुरुकुल कुरुक्षेत्र ने पिछले कुछ वर्षों में एनडीए और आईआईटी में 50 से अधिक छात्रों को भेजकर अभिभावकों के इस भरोसे को और मजबूत किया है।

प्राचार्य सूबे प्रताप ने कहा कि निश्चित तौर पर गुरुकुल के लिए यह बड़ी उपलब्धि है और उससे भी बढ़कर यह उन अभिभावकों के लिए हर्षित करने वाला शुभ समाचार है जिनके बच्चे एनडीए जैसी जटिल परीक्षा में सफल हुए हैं। यह उनके संघर्ष, कड़ी मेहनत और गुरुकुल के निष्ठावान्, कर्मठ, विषय विशेषज्ञ अध्यापकों के परिश्रम का परिणाम है। माननीय राज्यपाल आचार्य देवव्रत जी ने देश की सेवा के लिए सभ्य, कत्र्तव्यनिष्ठ और पूरी तरह से ईमानदार उच्च अधिकारियों की एक पौध गुरुकुल कुरुक्षेत्र में तैयार करने का जो स्वप्न संजोया था, निश्चित रूप से वह अब साकार होता नजर आ रहा है। गुरुकुल से प्रतिवर्ष एनडीए, आईआईटी में दर्जनों छात्र जा रहे हैं, जो गुरुकुल के गौरवशाली इतिहास की उपलब्धिरूपी माला में नए मोती जोड़ने का कार्य कर रहा है। उन्होंने छात्रों की इस बड़ी उपलब्धि पर पुनः सभी छात्रों और अध्यापकों को बधाई दी।

Related posts

तबलीगी से लेकर अल्ट्रा ऑर्थोडॉक्स तक के कट्टरपंथियों की हरकत से सारी दुनिया परेशान

Master@Admin

बडी ख़बर- वीरेन्दर शर्मा ने आम आदमी पार्टी से दिया त्यागपत्र

Editor@Admin

बेशकीमती है अरुणाचल प्रदेश में तैयार Golden needles tea

Master@Admin

Leave a Comment