Awaz Jana Desh | awazjanadesh.in
अंतरार्ष्ट्रीय राष्ट्रीय

हर घर तिरंगा कार्यक्रम के तहत डीआईपीआरओ डा. नरेंद्र सिंह ने पूरी की 75 किलोमीटर तिरंगा साइकिल यात्रा…

दैनिक आवाज जनादेश – वैद्य पण्डित प्रमोद कौशिक।

आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर तय किया था 75 किलोमीटर तिरंगा साइकिल यात्रा पूरा करने का लक्ष्य।
लोगों को किया हर घर तिरंगा कार्यक्रम के प्रति के जागरूक।
उपायुक्त मुकुल कुमार के मार्गदर्शन में हर घर तिरंगा अभियान का किया जा रहा है प्रचार-प्रसार।

कुरुक्षेत्र 6 अगस्त : आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर हर घर तिरंगा कार्यक्रम के तहत जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी डा. नरेंद्र सिंह ने 75 किलोमीटर तिरंगा साइकिल यात्रा पूरा करने का लक्ष्य तय किया था। इस लक्ष्य हासिल करने के लिए सूचना जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक डा. अमित अग्रवाल तथा उपायुक्त मुकुल कुमार के मार्गदर्शन में हर घर तिरंगा अभियान के तहत शनिवार को 75 किलोमीटर साइकिल यात्रा को पूरा किया। इस तिरंगा साइकिल यात्रा के दौरान लोगों को हर घर तिरंगा कार्यक्रम के अंतर्गत हर घर पर तिरंगा लगाने का संदेश भी दिया। अहम पहलू यह है कि इस यात्रा को पूरा करने पर महानिदेशक डा. अमित अग्रवाल व उपायुक्त मुकुल कुमार ने बधाई दी है।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल के आदेशानुसार प्रदेश में आजादी के 75 वें वर्ष में आजादी का अमृत महोत्सव मनाने के लिए हर घर तिरंगा कार्यक्रम के तहत 2 से 15 अगस्त उपायुक्त मुकुल कुमार के मार्गदर्शन में कुरुक्षेत्र में नियमित रूप से कार्यक्रम किए जा रहे है। इन्हीं कार्यक्रमों के तहत जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी डा. नरेंद्र सिंह ने शनिवार को अपनी साइकिल पर तिरंगा लगाकर सुबह करीब 4 बजे अपनी यात्रा को द्रोणाचार्य स्टेडियम से शुरू किया। यह तिरंगा यात्रा पिपली एनएच-44 जीटी रोड से शाहबाद और आदेश अस्पताल से अंबाला सीमा पहुंची। यहां से यह यात्रा वापस शाहबाद से पिपली और फिर द्रौणाचार्य स्टेडिय़म पर सम्पन्न हुई। इस यात्रा को पूरा करने में लगभग 2 घंटे 40 मिनट का समय लगा। यहां पहुंचने पर साई के प्रभारी कुलदीप सिंह वडैच, प्रशिक्षक गुरविंद्र सिंह, चांद राम, अरुण कुमार, नरेश कुमार सैनी, विनोद गर्ग ने स्वागत किया।
डीआईपीआरओ डा. नरेंद्र सिंह ने कहा कि आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर हर घर तिरंगा अभियान के तहत 75 किलोमीटर साइकिल पर तिरंगा लगाकर यात्रा को पूरा करने का लक्ष्य तय किया था। इस लक्ष्य को हासिल कर लिया है। इस दौरान लोगों को अपने घरों पर तिरंगा लगाने का संदेश भी दिया। इससे पहले भी उन्होंने विश्व साइकिल दिवस पर 55 किलोमीटर की साइकिल यात्रा पूरी करके आमजन को साइकिल चलाने का संदेश दिया था। साइकिल परिवहन का एक किफायती साधन है। साइकिल शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छी है। यह पर्यावरण और अर्थव्यवस्था के लिए भी अनुकूल है। इसमें कोई संदेह नहीं है कि साइकिल चलाना एक अद्भुत कसरत है और आपको फिजिकली फिट रखता है। यह एक स्वस्थ जीवन शैली को आकार देने में भी मदद करती है।उन्होंने कहा कि अगर आप फिट और स्वस्थ रहना चाहते है तो आपको शारीरिक रूप से फिट होना चाहिए. नियमित शारीरिक गतिविधि मोटापा, हृदय रोग, कैंसर, मानसिक बीमारी, मधुमेह और गठिया इत्यादि सहित कई बीमारियों से बचाने में साइकिलिंग मदद कर सकती है। नियमित रूप से साइकिल चलाना स्वस्थ रहने के लिए एक अच्छा विकल्प है और जीवनशैली पर आधारित स्वास्थ्य समस्याओं के जोखिम को भी कम करता है। साइकिल चलाना एक प्रकार की एरोबिक एक्सरसाइज है जो हृदय, रक्त वाहिकाओं और फेफड़ों सभी को फिट रखने में मदद करती है। साइकिल चलाने के माध्यम से शरीर के तापमान में वृद्धि का अनुभव करके समग्र फिटनेस स्तर को बढ़ाती है।

Related posts

गणतंत्र दिवस परेड में भाग लेकर लौटी है युवा कैडेट, एनसीसी ने की सम्मानित

Editor@Admin

बड़ा सवाल: ऊर्जा मंत्री की अधिकारियों पर ‘चल’ नहीं रही, या वो पब्‍लिक को ‘चला’ रहे हैं?

Master@Admin

गोशाईगंज विधानसभा के लगभग 5000 मतदाता 27 फरवरी को नहीं करेंगे मतदान

Editor@Admin

Leave a Comment