Awaz Jana Desh | awazjanadesh.in
जॉब / कैरियर

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड का दसवीं का रिजल्ट घोषित, प्रथम स्थान प्राप्त कर प्रियंका बनना चाहती हैं डॉक्टर *

सूत्र संवाद /आवाज जनादेश/शिमला -धर्मशाला।

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड का दसवीं का रिजल्ट आज बुधवार को जारी कर दिया गया। 2021-22 शैक्षणिक सत्र में 87.5 प्रतिशत रिजल्ट रहा है। दसवीं बोर्ड रिजल्ट में 90 हजार 375 कुल छात्र बैठे, जिसमें 78 हजार 573 छात्र पास हुए, 1409 छात्रों को कंपार्टमेंट रही, जबकि नो हजार 571 छात्र फेल घोषित किए गए।
पहले दस स्थान में 77 छात्र आए हैं, जिसमे 67 छात्राएं हैं, जबकि 10 ही लडक़े शामिल हैँ। दसवीं के रिजल्ट में निजी स्कूलों ने बाजी मारी है। टॉप-10 के 77 स्थानों में से 66 निजी, जबकि 11 सरकारी स्कूलों के हिस्से आए है। इससे पहले के रिजल्ट के बारे में बताते हुए स्कूल शिक्षा बोर्ड अध्यक्ष डॉ सुरेश कुमार सोनी ने बताया कि इससे पहले रिजल्ट का प्रतिशत बहुत ही कम रहता है, जिसमें 60 फीसदी के आसपास ही हर बार रिजल्ट रहा, लेकिन इस बार बेहतर रिजल्ट रहा है।

प्रथम स्थान प्राप्त कर प्रियंका बनना चाहती हैं
सरकारी स्कूलों के छात्र भी बेहतरीन अंक प्राप्त करके पास हुए है। पहले स्थान में मंडी सरस्वती विद्या मंदिर तत्तापानी की छात्रा प्रियंका व एंग्लो संस्कृत स्कूल मंडी की दिवांगी शर्मा ने संयुक्त रूप से 99 प्रतिशत 693 अंक प्राप्त किए है।

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने दसवीं कक्षा का परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया है, जिसमें सुंदरनगर के सिहली क्षेत्र से संबंध रखने वाली प्रियंका ने 700 में से 693 अंक लेकर पूरे प्रदेश में टॉप किया है।

प्रियंका के पिता डाक विभाग में ग्रामीण डाक सेवक के पद पर तैनात हैं और उनकी माता नीलम कुमारी गृहिणी हैं। प्रियंका ने मात्र तीन चार घंटे रोजाना पढ़ाई कर समूचे हिमाचल प्रदेश में टॉप करके स्थान प्राप्त किया है।

प्रियंका का सपना डॉक्टर बनना है और लोगों की सेवा करना है। प्रियंका ने यह मुकाम बिना किसी कोचिंग की प्राप्त किया है और इसका श्रेय माता-पिता और स्कूल के समस्त शिक्षकों और प्रबंधन वर्ग को दिया हैं ।
में प्रियंका राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सुनी में प्लस वन में साइंस की स्टूडेंट है और प्रियंका के पिता डाक विभाग तत्तापानी में ग्रामीण डाक सेवक के पद पर पिछले 22 वर्षों से सेवाएं दे रहे हैं। प्रियंका परिवार में सबसे बड़ी है और उसके छोटी एक बहन रेखा और छोटा भाई पीयूष है।

प्रियंका की हिमाचल में 10वीं की बोर्ड की परीक्षा में टॉप करके जहां एक ओर अपने माता-पिता का सपना साकार किया है, वहीं दूसरी ओर प्रियंका की दादी गुलाबो देवी माता नीलम कुमारी बहन रेखा छोटा भाई पीयूष पिता प्रभु दयाल सहित परिवार में खुशी का माहौल है।

प्रियंका के पिता प्रभ दयाल का कहना है कि उनको उनकी बेटी प्रियंका की मेहनत पर पूरा विश्वास था और उनका यह सपना प्रियंका ने हिमाचल में 10वीं की बोर्ड की परीक्षा में टॉप करके साकार किया है।

उन्होंने कहा कि प्रियंका का जो भी सपना होगा, वह उसको साकार करने में पूरा सहयोग करेंगे। प्रियंका ने आज की युवा पीढ़ी को संदेश दिया है कि जरूरी ही नहीं है कि आप पढ़ाई में ही आगे बढक़र हर मुकाम हासिल कर सकते हैं।

आप दूसरी खेलकूद सहित अन्य गतिविधियों में भी बढक़र अपने परिवार प्रदेश और देश का नाम रोशन कर सकते हैं। बशर्ते जरूरत है कि जो काम करना है, उसके ऊपर अपना ध्यान पूरी तरह से केंद्रित करें, तो अवश्य ही सफलता हाथ में लगती है।

इस उपलब्धि के लिए सरस्वती विद्या मंदिर तत्तापानी की संकुशल चंद्रप्रभा शर्मा ने प्रियंका की इस उपलब्धि पर उसे बधाई प्रेषित की है।

Related posts

EPFO Alert: आज ही अपने PF खाते से नॉमिनी का नाम जोड़ लें वरना 7 लाख रुपये का होगा नुकसान

Master@Admin

प्रेम कुमार धूमल के विधानसभा चुनावों में हार की जांच के बयान पर राजेंद्र राणा ने दी प्रतिक्रिया

Editor@Admin

हिमाचल प्रदेश में करीव डेढ़ माह बाद फिर से खुल गए स्कूल , स्कूल पहुंचने पर छात्रों से करवाया गया कोविड 19 के नियमों का पालन

Editor@Admin

Leave a Comment