Awaz Jana Desh | awazjanadesh.in
खबरें जॉब / कैरियर राष्ट्रीय शिक्षा स्वास्थ्य

हिमाचल प्रदेश में करीव डेढ़ माह बाद फिर से खुल गए स्कूल , स्कूल पहुंचने पर छात्रों से करवाया गया कोविड 19 के नियमों का पालन

हिमाचल प्रदेश में नर्सरी से आठवीं कक्षा तक के छात्रों के स्कूल फिर से 17 फरवरी को खुल गए हैं । जिसको लेकर छात्रों और अध्यापकों ने खुशी जाहिर की है । हमीरपुर के प्राथमिक बाल स्कूल में छात्रों के पहुंचने पर स्कूल प्रबंधन ने खासे इंतजाम किए हुए थे । कोविड-19 के नियमों का स्कूल में पूरी तरह से पालन किया जा रहा है। स्कूल की मुख्य अध्यापिका नीलम शर्मा ने बताया कि छात्रों को स्कूल में प्रवेश करने से पहले उनके तापमान को चेक किया गया । छात्रों के हाथों को सैनिटाइज किया गया जिन छात्रों का तापमान अधिक पाया गया उन्हें स्कूल में प्रवेश नहीं करने दिया गया। वहीं उन्होंने बताया कि व्हाट्सएप के माध्यम से भी परिजनों को मैसेज दिया गया था कि जिन बच्चों की तबीयत ठीक नहीं है या सर्दी जुकाम से पीड़ित हैं । उन बच्चों को स्कूल में ना भेजें। उन्होंने बताया कि उनके स्कूल में 150 छात्र छात्राएं शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं । लेकिन आज पहले दिन 92 बच्चों ने ही स्कूल में प्रवेश किया है। उन्होंने बताया कि छात्रों ने स्कूल पहुंचने पर खुशी जाहिर की है।

वहीं हमीरपुर के प्राथमिक बाल पाठशाला के छात्रों अर्णव, नव्या और अंकित राज ने स्कूल पहुंचने पर खुशी जाहिर की है । छात्रों का कहना है कि ऑनलाइन के माध्यम से उन्हें पढ़ाई करने में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था क्योंकि कभी सिग्नल वीक हो जाने के कारण उन्हें पढ़ाई में समस्या पेश आ रही थी लेकिन अब फिर से स्कूल खुल चुके हैं जिसके कारण उन्हें स्कूल में पढ़ाई करने में मजा आ रहा है अध्यापकों द्वारा जो उन्हें पढ़ाई करवाई जा रही है पूरी तरह से समझ आ रही है उन्होंने स्कूल खुलने को लेकर खुशी जाहिर की है। वहीं हमीरपुर के प्राथमिक पाठशाला की अध्यापिका मनोज ठाकुर ने बताया कि सरकार ने स्कूल खोलने का जो निर्णय लिया है बस यही है क्योंकि ऑनलाइन पढ़ाई करवाने के चलते बच्चे पूरी तरह से उनकी बात को समझ नहीं पाते थे हालांकि कुछ बच्चों के पास मोबाइल फोन भी नहीं है। जिस कारण वे पढ़ाई से वंचित रह जाते थे। लेकिन अब स्कूल खुल चुके हैं,तो बच्चे आराम से पढ़ाई कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्कूल में प्रवेश करने से पहले छात्रों के कोविड-19 नियमों के तहत हाथों को सैनिटाइज करवाया गया और उनका तापमान भी चेक किया गया। उसके बाद ही बच्चों को स्कूल में प्रवेश करने दिया उन्होंने बताया कि बच्चों ने स्कूल में पहुंचने पर खुशी जाहिर की है।

Related posts

हमीरपुर जिला के बड़ीत्तर के सुभाष चंद शर्मा ने पेश की मिसाल, दो कनाल जमीन में उगाई केसर की खेती

Editor@Admin

भारतीय कुर्मी महासभा ने सरदार वल्लभ भाई पटेल की 146 वीं जयंती मनाई

Editor@Admin

आवाज जनादेश न्यूज़ बुलेटिन 22/01/2022

Editor@Admin

Leave a Comment