Awaz Jana Desh | awazjanadesh.in
खबरें जॉब / कैरियर मनोरंजन राष्ट्रीय

आईवा मिसेंज इंडिया 2021 के विजेताओं को हमीरपुर के बसंत रिजोर्ट में कार्यक्रम के दौरान क्राउनिंग सेरामनी का आयोजन

आईवा मिसेंज इंडिया 2021 के विजेताओं को हमीरपुर के बसंत रिजोर्ट में कार्यक्रम के दौरान क्राउनिंगसेरामनी का आयोजन किया गया है। हालंाकि यह कार्यक्रम महाराष्ट्र में होना तय हुआ था लेकिन कोविड के चलते इस कार्यक्रम को हमीरपुर में आयोजित किया गया। जिसमें बतौर मुख्यातिथि पहुंचे शिक्षा उपिनदेशक सैकेंडरी दिलबर जीत चंद्र, डीपीओ एल सी शर्मा , एलडीओ सरिता राणा मौजूद रहे। बता दे कि आईवा मिसेंज इंडिया प्रतियोगिता में प्रदेश की दो महिला अध्यापिकाओं को विभिन्न कैटागिरी में आईवा मिसेज इंडिया का अवार्ड से नवाजा गया है। जिसमें कंचन धीमान को आईवा मोस्ट टेलेंटिडं , नीरज मिन्हास को क्लासिकल कैटागिरी में का अवार्ड मिला है जो कि गर्व की बात है। ब्रेस्ट केंसर के चलते महिलाओं की ज्यादा मौत होती है जिसके चलते आइवा संस्था के द्वारा जागरूकता के कार्यक्रम करवा कर इस तरह की बर्चुअल प्रतियोगिताएं करवाई जाती है। जेबीटी अध्यापिका कंचन धीमान को आईवा मोस्ट टेलेंटिडं मिलने पर खुशी जाहिर की है और कहा कि आईवा संस्था के द्वारा हर साल ही महिलाओं के उत्थान के लिए काम किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि समाज में जागरूकता लाने के साथ ही महिला संशक्तिकरण के लिए भी काम किया जा रहा है।

नीरज मिन्हास ने बताया कि आईवा में क्लासिकल कैटोगिरी अवार्ड मिलने पर बहुत खुश हूं और आईवा एक ऐसा माध्यम बना है जिस कारण अपनी प्रतिभा को सभी के समक्ष दिखा पाई हूं। उन्होंने कहा कि आईवा के माध्यम से छिपी हुई प्रतिभा को दिखाने के लिए जनवरी माह में आईवा की ओर से विभिन्न टास्क को पूरा किया गया है जिसके आधार पर निरीक्षण के बाद अवार्ड हासिल हुआ है। उन्होंने बताया कि भारत से 300 प्रतिभागी ने हिस्सा लिया है और पहले दस प्रतिभागियों में मेरा नाम भी शामिल हुआ है। आईवा एबेस्टडर बनी अध्यापिका पूर्णिमा जंबाल ने बताया कि इस बार आईवा मिसेंज इंडिया की दोनों विजेता हिमाचल की है और कोविड के चलते क्राउनिंग सेरीमनी हमीरपुर में की जा रही है। उन्होंने बताया कि क्रोनिंग सेरीमनी के दौरान विजेताओं को क्रोन पहनाकर सम्मानित किया गया है। शिक्षा उपनिदेशक सैकेंडरी दिलबर जीत चद्र ने आइवा मिसेज अवार्ड विजेता अध्यापिकाओं को बधाई दी और कहा कि दोनों अध्यापिकाओं के द्वारा आईवा अवार्ड जीता है जो कि गर्व की बात हैं उन्होंने कहा कि आईवा के द्वारा विभिन्न प्रतियोगिताओं में गहन परख के बाद अवार्ड मिलता है ।

Related posts

ग्राम पंचायत भक्ति घड़ी के मजरा नगला छैंकुर में मतदान बहिष्कार

Editor@Admin

विश्व वैष्णव सम्मेलन व 150 वें जन्मोत्सव को बनाया जाएगा यादगार : सुधा…

Editor@Admin

बिलासपुर में प्लॉटों से वंचित 245 भाखड़ा विस्थापितों को अब जल्द ही प्लॉट मिलेंगे

Editor@Admin

Leave a Comment