Awaz Jana Desh | awazjanadesh.in
खबरें जॉब / कैरियर राष्ट्रीय व्यापार

हमीरपुर जिला के बड़ीत्तर के सुभाष चंद शर्मा ने पेश की मिसाल, दो कनाल जमीन में उगाई केसर की खेती

भारत मे केसर की अधिकतर खेती जम्मू कश्मीर , उत्तराखंड पहाड़ी और ठंडे इलाके में होती है। लेकिन अब केसर की खेती हमीरपुर जिला के बड़सर विधानसभा क्षेत्र के गांव बड़ीत्तर में भी सुभाष चंद शर्मा द्वारा यह खेती की जा रही है। बीते वर्ष सुभाष चंद ने साढ़े पांच किलो केसर बेचकर साढ़े तीन लाख रुपये का मुनाफा कमाया। मुनाफे को देखते हुए सुभाष चंद ने इस बार दो कनाल जमीन पर केसर की खेती उगाई है। जोकि मार्च माह में तैयार हो जाएगी। सुभाष चंद शर्मा द्वारा उगाई जा रही केसर की खेती की द्वारा जमकर सराहना की जा रही है। हिमाचल प्रदेश के जिला हमीरपुर के गांव बड़ीत्तर के किसान सुभाष चंद ने केसर की खेती उगाकर मिसाल पेश की है। अक्सर केसर की खेती ठंडे पहाड़ी क्षेत्रों में जम्मू कश्मीर और उत्तराखंड इत्यादि राज्यों में होती है। लेकिन हिमाचल प्रदेश का जिला हमीरपुर एक गर्म जिला है । जहां पर बड़ीत्तर गांव के किसान सुभाष चंद ने केसर की खेती उगाकर कर सबको हैरान कर दिया है। बीते वर्ष सुभाष चंद ने साढ़े पांच किलो केसर बेचकर साढ़े तीन लाख रुपए का मुनाफा कमाया है। इस बार उन्होंने दो कनाल जमीन पर केसर की खेती की है । जो मार्च माह में तैयार हो जाएगी। सुभाष चंद की केसर की खेती को देखने के लिये दूर दूर से किसान देखने के लिए पहुंच रहे हैं।

वहीं सुभाष चंद ने बताया कि उन्हें केसर की खेती के लिये उनके एक मित्र ने प्रेरित किया जो कि उत्तराखंड में रहते हैं। उनसे केसर का बीज एकत्रित किया और खेतों में बिजाई की । हालांकि पहले उन्हें असफलता ही हाथ लगी । लेकिन कड़ी मेहनत के कारण उन्होंने केसर की फसल को उगाया और लाखों रुपये का मुनाफा कमाने में सफल हुए। सुभाष चंद ने बताया कि इस बार उन्होंने तीस हजार रुपये के केसर के बीज की दो कनाल जमीन पर बिजाई की है। वहीं सुभाष चंद शर्मा ने बेरोजगार युवाओं से आह्वान किया है कि जिनके पास जमीन है वह केसर की खेती कर अपनी आजीविका घर बैठे ही कमा सकते हैं। वहीं सुभाष चंद शर्मा के केसर को देखने के लिए दूर दूर से किसान पहुंच रहे हैं और केसर की खेती के बारे में जानकारी हासिल कर रहे है। रविदत्त शर्मा में बताया कि उन्होंने केसर की खेती जम्मू कश्मीर में ही होते हुए सुनी थी । लेकिन सुभाष ने भी केसर को गांव में उगाकर मिसाल पेश की है। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग को भी ऐसे किसानों की मदद करनी चाहिए और इस तरह की फसलों को उगाने की प्रेरणा देनी चाहिए। वहीं दीप राम शर्मा ने बताया कि उन्होंने के केसर की खेती बाहरी राज्यों होते हुए सुनी थी। लेकिन सुभाष चंद ने बड़ीत्तर गांव में केसर की खेती की है जोकि बहुत ही सराहनीय है। वहीं किसान सरला देवी और सलोचना देवी ने भी सुभाष चंद के इस काम की जमकर सराहना की है उन्होंने कहा कि केसर की खेती ठंडे क्षेत्रों में होती है। लेकिन हमीरपुर एक गर्म जिला है फिर भी सुभाष ने मेहनत कर केसर की खेती उगाई है वह काविले तारीफ है।

Related posts

सतलुज सेवा ट्रस्ट के बैनर तले विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया

Editor@Admin

आवाज जनादेश न्यूज़ बुलेटिन 22/01/2022

Editor@Admin

सदस्यता अभियान को लेकर भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से सदस्यता इंचार्ज दीपा दासमुंशी ने ली बैठक

Editor@Admin

Leave a Comment